computer virus best talk


Category : computer knowledge 01/11/19


1. कम्पयूटर वायरस
कम्प्यूटर वायरस एक प्रकार क इलेक्ट्रॉनिक कोड है | जिसका उपयोग कम्प्यूटर में समाहित सूचनाओं क समाप्त करने के लिए होता है | इसे कम्प्यूटर प्रोग्राम में,किसी टेलीफोन लाइन से दुर्भावनावश प्रेषित किया जाता है | इस कोड से गलत सूचनाएं मिल सकती हैं . एकत्रित जानकारी नष्ट हो सकती है तथा यदि कोई कम्प्यूटर किसी नेटवर्क से जुड़ा है तो इलेक्ट्रोनिक रूप से जुड़े होने के कारण यह वायरस सम्पूर्ण नेटवर्क को प्रभावित कर सकता  है | फ्लॉपियों के आदान [प्रदान से भी वायरस के फैलने का डर रहता है | ये महीनों , सालों तक बिना  पहचाने गये ही कम्प्यूटर में पड़े रह सकते हिं और उसे क्षति पहुंचा सकते हैं | इनकी रोकथाम के लिए इलेक्ट्रॉनिक सुरक्षा व्यवस्था विकसित की गयी है | कुछ मुख्य कम्प्यूटर वायरस हैं - माइकेएंजलो , डार्क एवेंजर , किलो,फिलिप ,मैकमग ,स्कोर्स , कैस्केड ,जेरुसलम , डेटा क्राइम , कोलम्बस क्राइम , इंटरनेट वायरस , पैचकॉम. अपैच EXE,कॉम -EXE,मरीजूआना ,मेलिसा , अन्ना कोर्निकोवा , माई ड्रम .प्वाइजन आईवी, सी ब्रेन , ब्लडी , चेंज मुंगु एवं देसी | 

नोट :- (a) माइकलएंजेलो वायरस सर्वप्रथम 6 मार्च 1993 को देखा गया जिस दिन इसको पाया गया उस दिन इटली के प्रसिद्ध चित्रकार माइकलएंजेलो की पुन्य तिथि थी | अत :इस वायरस का नाम माइकलएंजेलो वायरस रखा गया |
(b) भारत में बेंगलुरु की एक कम्पनी वायरस विरोधी प्रोग्रामों में विशेष दक्षता रखती है |

Tags : Computer Virus,basic Computer,basic Computer Knowledge,basic Computer Course,computer Basic Knowledge,computer Knowledge,computer Gk In Hindi

Go To Home | About Us | Term and Conditions | Disclaimer | Sitemap | Contact us